Ticker

6/recent/ticker-posts

Tech News: Telegram जल्द ही Promotion Message फ़ीचर को लॉन्च करने की तैयारी में है।

 



टेलीग्राम के संस्थापक और सीईओ पावेल ने घोषणा की है कि किसी को भी अपने बॉट्स और चैनल को प्रमोशन के लिये टेलीग्राम मैसेंजिंग प्लेटफॉर्म पर प्रमोशन फ़ीचर लाने की तैयारी कर रहा है। अभी इस फीचर की टेस्टिंग की जा रही है। Promotion Message टेलीग्राम के पब्लिक चैनल पर दिखाई देगा जिनके 1000 से ज्यादा मेंबर हैं। उन्होंने ने बातों बातों में तंज कसते हुए कहा कि वो नहीं चाहते हैं कि इस प्लेटफॉर्म को भी किसी दूसरे के हाथ में बेच दिया जाए। वो इस तकनीकी पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं जिससे प्लेटफार्म पर ज्यादा से ज्यादा रेवेन्यू हो सके।


कैसे काम करेगा ये नया फ़ीचर

इस फ़ीचर्स की मदद से आप टेलीग्राम पर अपने बॉट्स या चैनल को किसी दूसरे पब्लिक चैनल पर पैसे देकर प्रमोट करा पाएंगे। याद रहे कि ये फ़ीचर्स उन्ही को मिलेगा जिसके टेलीग्राम चैनल पर 1 हज़ार से ज्यादा मेंबर हैं। सबसे बड़ा सवाल ये की अगर कोई चैनल एडमिन किसी दूसरे चैनल को प्रोमोट करेगा तो उसे क्या मिलेगा? इसका जवाब देते हुये टेलीग्राम ने कहा है कि एक बार इस फीचर के शुरू हो जाने के बाद फीचर से मिलने वाले पैसे का इस्तेमाल सबसे पहले बुनियादी ढांचे की बुनियादी लागत को पूरा करने के लिए किया जाएगा। उसके बाद, टेलीग्राम द्वारा विज्ञापन से मिले पैसे  को उन चैनलों के एडमिन के साथ शेयर किया जाएगा जिनके चैनल Promotion Feature का इस्तेमाल करके कोई और चैनल प्रमोट किया होगा।


सबको नहीं मिलेगा इस फीचर का लाभ

रेगुलर टेलीग्राम यूजर इस फ़ीचर्स का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। कंपनी ने कहा है कि चैट लिस्ट, प्राइवेट ग्रुप और प्राइवेट चैट यूजर Sponoserd Message फ़ीचर्स का फ़ायदा नहीं मिलेगा। और ना ही उनके मैसेज चैट में कोई विज्ञापन दिखाई देगा। कंपनी इस फ़ीचर्स का इस्तेमाल यूजर डेटा के आधार पर नहीं करेगी जैसा ऐड मॉडल  Facebook (Meta) का है। इस फ़ीचर्स का इस्तेमाल पब्लिक ग्रुप में होगा और वहीं ऐड दिखाया जाएगा जिसमें ग्रुप का कंटेंट एक जैसा होगा। पब्लिक ग्रुप में ऐड तभी दिखाई देगा जब उस चैनल में 1 हज़ार से ज्यादा मेंबर होंगे। इसमें किसी भी यूजर का पर्सनल डेटा का इस्तेमाल नहीं किया जायेगा की वो क्या सर्च करते हैं वो क्या खरीदते हैं या वो क्या पसंद करते हैं। हालांकि गूगल और फेसबुक के ऐड मॉडल भी एक जैसे हैं।


- आनंद पांडे


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ