Ticker

6/recent/ticker-posts

Up election 2022: आजम खान से मिले शिवपाल यादव, कहा- चुनाव के लिए एकजुट हों सपा परिवार


लखनऊ: समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल यादव, जो एक अलग राजनीतिक संगठन प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (पीएसपी-एल) का नेतृत्व कर रहे हैं रविवार को सीतापुर जेल में वरिष्ठ सपा नेता आजम खान से मुलाकात की।


आजम के साथ 90 मिनट की बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए शिवपाल ने कहा कि पूरे 'समाजवादी परिवार' को एकजुट होकर चुनाव में जाना चाहिए।


फरवरी 2020 से जेल में बंद सपा के मुस्लिम चेहरे आजम के साथ शिवपाल की मुलाकात, पीएसपी-एल प्रमुख द्वारा आजम खान के गृहनगर रामपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए अपनी पार्टी में शामिल होने की पेशकश के एक महीने बाद हुई।


कभी सपा के शीर्ष पांच नेताओं में से एक माने जाने वाले आजम ने भी पहले संकेत दिया था कि वह सपा नेतृत्व से खुश नहीं हैं।


हालांकि अखिलेश आजम से मिलने सीतापुर जेल गए। इसके बाद, वरिष्ठ नेता राम गोविंद चौधरी और अहमद हसन, क्रमशः राज्य विधानसभा और परिषद में विपक्ष के नेता, आजम से जेल में मिले।


मीडियाकर्मियों से बात करते हुए, शिवपाल ने लोगों के प्रति अपने तानाशाही रवैये के लिए भाजपा को लताड़ा।


उन्होंने कहा, 'यह तानाशाही है। सरकार किसी की नहीं सुन रही है।' 2022 के चुनावों में सपा के साथ उनकी पार्टी की संभावनाओं के बारे में पूछे जाने पर, शिवपाल ने कहा कि सही समय पर सब कुछ सार्वजनिक किया जाएगा।


अखिलेश के साथ उनकी टेलीफोन पर हुई बातचीत के नतीजे और समाजवादी पार्टी के साथ उनकी पार्टी के गठबंधन पर चुप्पी के बारे में पूछे जाने पर शिवपाल ने कहा, "ये रणनीति का हिस्सा होता है।"


2022 के विधानसभा चुनावों के प्रति अपने दृष्टिकोण के बारे में एक सवाल के जवाब में, शिवपाल ने कहा, "चुनाव के बारे में ये है कि सब लोग एक हो जाओ, पूरा समाजवादी परिवार एक हो जाए और एक होकर चुनाव लड़े (मैं कहूंगा कि पूरे समाजवादी परिवार को एक होना चाहिए और फिर चुनाव में जाना चाहिए।"


शिवपाल ने पहले घोषणा की थी कि चुनाव से पहले गठबंधन करने के मामले में समाजवादी पार्टी उनकी पहली प्राथमिकता होगी, लेकिन यह भी बताया कि उनकी कॉल के बावजूद, अखिलेश ने सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं दी थी


बाद में, एक संवाददाता सम्मेलन में मीडिया के एक सवाल का जवाब देते हुए, अखिलेश ने कहा कि उन्होंने 'चाचा जी' से फोन पर बात की थी और यादव परिवार के वरिष्ठ सदस्यों को आश्वासन दिया था कि चुनाव में शिवपाल और उनके लोगों का "विधिवत सम्मान" किया जाएगा।

- आशीष सिंह 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ