Ticker

6/recent/ticker-posts

वतन पर मिटने वालो का अब नया पता: इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति का नेशनल वार मेमोरियल की लो में होगा विलय


नई दिल्ली: इंडिया गेट पर जल रही 'अमर जवान ज्‍योति' का राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (National War Memorial) पर जल रही लौ में विलय होगा। रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार, शुक्रवार दोपहर अमर जवान ज्‍योति का एक हिस्‍सा नैशनल वॉर मेमोरियल ले जाया जाएगा। 3.30 बजे दोनों लौ का विलय समारोह होगा। दोनों स्‍मारकों के बीच की दूरी मुश्किल से आधा किलोमीटर है। आपको बता दें कि 25 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नैशनल वॉर मेमोरियल का उद्घाटन किया था जहां 25,942 सैनिकों के नाम स्वर्ण अक्षर में लिखे गए है.


इंडिया गेट को अंग्रेजो ने 1920 में प्रथम विश्व युद्ध में शहीद हुए 84,000 सैनिकों की याद में बनवाया था लेकिन 50 साल से जल रही अमर जवान ज्योति को आप अब तक देखते आ रहे थे उसे तब तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने 1971 के युद्ध में शहीद हुए 3,843 सैनिकों की याद में अमर जवान ज्योति जलाने का फैसला लिया गया था और 26 जनवरी 1972 की इसका उद्घाटन किया।


अमर जवान ज्‍योति एक काले मार्बल का फलक है जिसके चारों तरफ स्‍वर्णाक्षरों में 'अमर जवान' लिखा हुआ। इसके ऊपर एक L1A1 सेल्‍फ लोडिंग राइफल रखी है और उसपर एक सैनिक का हेलमेट किसी मुकुट की तरह रखा हुई है।


नैशनल वॉर मेमोरियल के अमर चक्र में भी अमर जवान ज्योति है इसलिए इंडिया गेट पर जल रही लौ को इसी में मर्ज किया जाना है।

- Nitika singh

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ