Ticker

8/recent/ticker-posts

सुल्ली डील्स ऐप का मास्टरमाइंड हुआ गिरफ्तार

 


बुल्ली बाई एप के बाद अब सुल्ली डील्स के मास्टरमाइंड को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।अभी हाल फिलहाल में ही बुल्ली बाई नाम का  ऐप बनाया गया था, जिस पर मुस्लमान समुदाय की महिलाओं को निशाना बनाया जा रहा था और उनको ऑनलाइन बिक्री के लिए उस ऐप पर रखा जा रहा था।


बुल्ली बाई एप मास्टरमाइंड को गिरफ्तार करने के बाद, सुल्ली डील्स के मास्टरमाइंड ओंकारेश्वर ठाकुर को इंदौर के न्यू यॉर्क सिटी टाउनशिप से गिरफ्तार कर लिया है।  ओंकारेश्वर ठाकुर पर आरोप है कि वह मुस्लमान महिलाओं को ट्रोल करने के लिए, बने ट्विटर  ग्रुप का भी सदस्य था।


मामले की जांच होने पर दिल्ली पुलिस ने बताया कि 25 साल का ओंकारेश्वर ठाकुर ने स्वीकार कर लिया है कि वह ट्विटर पर ट्रेड ग्रुप का सदस्य था और उसी ने मुस्लिम महिलाओं को ट्रोल करने की साजिश भी रची  थी। जांच पड़ताल के बाद मालूम हुआ है  कि ओंकारेश्वर ठाकुर ट्विटर पर एक ट्रेड ग्रुप का हिस्सा था, जहां विशेष समुदाय की महिलाओं को निशाना बनाया जाता था।


इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक एप्स यूनिट ने, असम से बुल्ली बाई एप के मास्टरमाइंड नीरज को गिरफ्तार किया था। जांच होने पर इन से प्राप्त हुए मोबाइल और लैपटॉप से पूरे प्लान की पुष्टि की गई।बुल्ली बाई एप के पीछे का मकसद भारतीय महिलाओं की नीलामी करना और बदले में पैसा कमाना था।


बुल्ली बाई और सुल्ली डील्स जैसे मामलों में साइबर अपराधी इंटरनेट से लोकप्रिय महिलाओं और सेलिब्रिटीज़ की फोटो का उपयोग करके अपने एप का प्रचार करते थे। जांच होने पर सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को ऐसे अपमानजनक पोस्ट हटाने का निर्देश दिया था।


असम पुलिस के अधिकारी और दिल्ली पुलिस के अधिकारी इस मामले में कोऑर्डिनेट करके जांच पड़ताल कर रहे थे । दोनों टीमों ने मिलकर करीब 12 घंटे में ऑपरेशन को खत्म कर दिया था। 'सुल्ली' महिलाओं के ख़िलाफ़ इस्तेमाल किया जाने वाला अपमानजनक शब्द है, जिसका उपयोग टि्वटर हैंडल बनाने में किया गया था। मामला सामने आने पर सरकार ने तुरंत सोशल मीडिया से, इसे हटाने का निर्देश दिया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ