Ticker

6/recent/ticker-posts

Uttar pradesh election 2022: पक रही है सियासी खिचड़ी





लखनऊ: बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ता चंद्रशेखर ने आज यह ऐलान किया है कि, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने दलितों का अपमान किया है और उनके वर्ग को पिछड़ा साबित किया है। अखिलेश यादव ने कल प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए यह ऐलान किया था कि समाजवादी पार्टी का गठबंधन बहुजन समाज पार्टी के साथ नहीं हो रहा है|


बहुजन समाज पार्टी दलितों के लिए,‌पिछड़े समाज के लिए, मुसलमानों के लिए और हर वर्ग के नागरिकों के लिए कार्य करती है। इसी बात को  मद्देनजर रखते हुए चंद्रशेखर ने गठबंधन का प्रस्ताव समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के समक्ष रखा था, किंतु उनके प्रस्ताव को ठुकरा दिया गया।आज मायावती के जन्मदिवस पर उन्होंने यह ऐलान किया है कि, जिस प्रकार 2007 में बहुजन समाज पार्टी ने उत्तर प्रदेश में बदलाव और विकास का कार्य करके अपनी पार्टी की जगह बनाई थी, उसी प्रकार 2022 में भी बहुजन समाज पार्टी फिर से एक बार अपना झंडा लहराएगी और फिर से सरकार सत्ता में आएगी।


भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ता चंद्रशेखर ने यह ऐलान किया है कि योगी आदित्यनाथ ने दलित के घर खिचड़ी खा कर यह साबित कर दिया है कि,  वह पिछड़े समाज का व्यक्ति है इसलिए हम उसके घर पर खिचड़ी खाने गए हैं। यदि उन्हें अपनत्व दिखाना ही था तो वह किसी ब्राह्मण के घर पर जाकर भोज भी कर सकते थे। लेकिन अछूत के घर भोज करके उन्होंने दलितों का अपमान किया है। इस सियासी खिचड़ी को वोट मांगने का नया तरीका बताया जा रहा है।समाजवादी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी दलित वोटों के आधार पर सरकार बनाने की तैयारी कर रही है। लेकिन वह यह नहीं जानती है कि, आज के उत्तर प्रदेश का दलित और मुसलमान; बहुजन समाज पार्टी के साथ है और सत्ता में फिर एक बार बसपा ही आएगी।


लंबे मंथन के बाद आज भारतीय जनता पार्टी अपनी पहली लिस्ट जारी कर देगी । कई उम्मीदवार लिस्ट से बाहर किए जाएंगे और नए चेहरे सामने आएंगे। 172 नए उम्मीदवारों के नाम इस लिस्ट में देखने को मिलेंगे। सबकी नज़र योगी आदित्यनाथ के क्षेत्र, अयोध्या पर टिकी हुई है। माना जा रहा है कि पहली लिस्ट में योगी आदित्यनाथ का नाम भी शामिल होगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ