Ticker

8/recent/ticker-posts

दिल्ली मेट्रो होगा दुनिया का सबसे बड़ा ड्राइवरलेस नेटवर्क: डीएमआरसी

 
 



नई दिल्ली: केंद्र और दिल्ली सरकार द्वारा फेज–4 के लिए प्रस्तावित 6 में से 3 कॉरिडोर निर्माण के लिए डीएमआरसी को मंज़ूरी देने के बाद अब दिल्ली में ड्राइवरलेस मेट्रो का दायरा बढ़ जायेगा। ये पूरे देश के लिए गर्व की बात है।


डीएमआरसी ने फेज 3 में मजलिस पार्क से लेकर शिव विहार और जनकपूरी वेस्ट से लेकर बॉटेनिकल गार्डन के बीच दो नई मेट्रो लाइनें बनाई थी। इन दोनों लाइनों पर पहली बार नया संचार आधारित अनटेंडेड ट्रेन ऑपरेटिंग (UTO) सिस्टम से लैस ट्रेनों को चलाया गया था। 


मजलिस पार्क से शिव विहार के बीच 38 मेट्रो स्टेशन के साथ 57.49 km की पिंक लाइन, जबकि जनकपुरी वेस्ट से बॉटेनिकल गार्डन के बीच 25 मेट्रो स्टेशन के साथ 34.12 km की मजेंटा लाइन का निर्माण हुआ था। इस तरह कुल मिलाकर 91.61 km लंबा ड्राइवरलेस मेट्रो स्टेशन  ऑपरेशनल है। अब जब इन दोनो लाइनों का विस्तार फेज 4 तक किया जाएगा तो ड्राइवरलेस मेट्रो का दायरा  अपने आप बढ़ जायेगा। 


डीएमआरसी ने नई तकनीक वाले ट्रेनों को खरीदने के लिए टेंडर नोटिस जारी कर दिया है। इन तीनों कॉरिडोर के निर्माण से दिल्ली में ड्राइवरलेस मेट्रो का दायरा बढ़ कर 156.81 km का हो जायेगा, जो कि दुनिया का सबसे बड़ा ड्राइवरलेस मेट्रो होगा। जिसमे कुल 108 मेट्रो स्टेशन होंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ