Ticker

8/recent/ticker-posts

Header Ads Widget


 

नकली बीड़ी बनाने वाली फैक्ट्री का भांडा फोड़, एक आरोपी भी गिरफ़्तार



नई दिल्ली: उत्तरी जिला पुलिस की District Investigation Unit (DIU) ने बड़ी मात्रा में प्रतिष्ठित कंपनियों के नकली उत्पाद बरामद किए हैं और मामले में शामिल एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। दिल्ली के उत्तरी जिला पुलिस आयुक्त (डीसीपी) सागर सिंह कलसी ने शिकायतकर्ता अशरफुल आलम की शिकायत पर यह कारवाई की है। अशरफुल द्वारा दर्ज शिकायत के आधार पर 15 मार्च को धारा 103/104 ट्रेड मार्क एक्ट और 63/65 कॉपी राइट एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया। अशरफुल शिव बीरी कंपनी लिमिटेड के प्रतिनिधी है।


डीसीपी कलसी के अनुसार शिकायत मिलने के बाद पुलिस दल मौके पर पहुंची और बाड़ा हिंदूराव इलाके में छापेमारी की गई। छापेमारी के दौरान, शिव बीरी कंपनी लिमिटेड के फर्जी / नकली उत्पाद और टोकरी मोहल्ले में सामान बनाने की फैक्ट्री का भी पता लगा लिया।


डीसीपी ने बताया कि आरोपी की पहचान टोकरी मोहल्ला निवासी मल्लू (35) के रूप में हुई है।डीसीपी  कलसी ने कहा कि पूछताछ के दौरान आरोपी मल्लू ने खुलासा किया कि वह अपने मालिक मुशताक के लिए काम करता है और वे दोनों अपने मजदूरों के जरिए ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर नकली बीड़ी (सिगरेट) बनाते थे।


आरोपी ने आगे खुलासा किया कि वह और उसका सहयोगी मुशताक मिलकर काम करते हैं। वे पश्चिम बंगाल के विभिन्न हिस्सों से बीड़ी (सिगरेट) बनाने के लिए कच्चा माल जैसे पत्ते और उसका पाउडर आदि लाने की व्यवस्था करते हैं।


आरोपियों ने खुलासा किया कि वे पहले प्रिंटिंग प्रेस में डुप्लीकेट रैपर्स बनाते थे और बाद में "शिव बीड़ी" के नाम पर डुप्लीकेट कवर/रैपर में बीड़ी रैप करते थे। बाद में, वे स्थानीय बाजारों के विक्रेताओं को ब्रांडेड कंपनियों के नाम पर डुप्लिकेट बीड़ी बेचते थे और आसान लाभ कमाने के लिए खरखोदा, हरियाणा और अन्य स्थानों पर भी इसकी आपूर्ति करते थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ