Ticker

8/recent/ticker-posts

समाज को उन्नति की राह दिखाने वाले सुधारक ज्योतिबा फुले

नई दिल्ली: सामाजिक समरसता और पूर्वोत्तर भारत के लिए कार्य करने वाली संस्था "माय होम इंडिया" द्वारा महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती पर 11 अप्रैल 2022 को नई दिल्ली स्थित कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में सामाजिक समरसता विषय पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। 


कार्यक्रम में माय होम इंडिया के संस्थापक और भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय सचिव श्री सुनील देवधर जी, केंद्रीय सूचना और प्रसारण एवं मत्स्य पालन पशुपालन डेरी राज्यमंत्री डॉ एल मुरुगन जी, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में राज्य मंत्री प्रतिमा भौमिक जी शामिल हुई।


साथ ही भाजपा के अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के उपाध्यक्ष अरुण हालदार, घुमंतु एवं अर्ध घुमंतु समुदाय विकास एवं कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष भिकू रामजी इदाते सुप्रसिद्ध लेखक एवं वरिष्ठ पत्रकार भाऊ तोरसेकर के साथ माय होम इंडिया (दिल्ली एनसीआर) इकाई के अध्यक्ष बलदेव सचदेवा उपस्थित रहे।


कार्यक्रम के मुख्य वक्ता सुनील देवधर ने कार्यक्रम के बारे में बात करते हुए कहा कि ज्योतिबा फुले ने अपनी पूरी जिंदगी समाजिक समरसता के लिए लगा दी, उन्होंने समाज में सबसे पहले लड़कियों और महिलाओं को शिक्षित करके समाज को बदलने की ठानी इसके लिए उन्होंने अपने घर से शुरुआत करते हुए अपनी पत्नी सावित्री बाई फुले को पढ़ाना शुरू किया। 


उन्होंने आगे बताया कि भारत में सबसे पहला अनाथालय खोलने वाले ज्योतिबा फुले ही थे ताकि अनाथ बच्चों और उस समय समाज से निष्कासित की जाने वाली महिलाओं को नया जीवन दे सकें। उन्होंने समाज को विधवा विवाह के लिए भी प्रेरित किया।


प्रतिमा भौमिक जी ने अपने वक्तव्य में माननीय प्रधानमंत्री जी को आज का ज्योतिबा फुले बताया जो समाज में पिछड़ो, दलितों और महिलाओं को सम्मान देने का कार्य किया।


उन्होंने त्रिपुरा राज्य की बात करते हुए कहा कि त्रिपुरा में लोगों को ये बताया गया कि लेनिन, कालमार्क्स कौन है वियतनाम कहाँ है पर जिन ज्योतिबा फुले जी ने हमारे लिए काम किया उनके बारे में किसी ने नहीं बताया


कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में अपने विचार रखते हुए डॉ एल मुरुगन ने बताया कि आज ज्योतिबा फुले के विचारों को जो सही रूप में आगे बढ़ा रहे हैं वो सिर्फ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं, उन्होंने कार्यक्रम के आयोजनकर्ताओं का धन्यवाद दिया। 


अंतिम में माय होम इंडिया (दिल्ली एनसीआर) इकाई के अध्यक्ष बलदेव सचदेवा ने अपने विचार रखते हुए कार्यक्रम का समापन किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ